»
»
»
बहत गंगा में

बहत गंगा में

बहत गंगा में हाथ जरुर धोवे के चाहीं,
बड़ा पुन्न होला!

खइले के ना हऽ, पचवलो के हऽ
काजर कइले के ना हऽ, मटकवलो के हऽ.




More Bhojpuri SMS

उम्मीद नइखे तबहियो

उम्मीद नइखे तबहियो जियत जात बानी.
खाली बा बोतल तबहियो पियल जात बानी.
हिम्मत देखऽ हमार, रिस्पांस मिलत नइखे
तबहियो चुटपुटिहा लिखत जात बानी.

काश कि रउरा बकरी

काश कि रउरा बकरी होखतीं.
हम रउरा के प्यार से घास खियईतीं
आ फेर प्यार से सींग पकड़ के हिलइतीं
आ पूछतीं
चुटपुटिहा के भेजी ?
आ रउरा मिमियतीं मैं.. मैं.... मैं....

हाट बाट के दोस्ती

हाट बाट के दोस्ती, बदरायन संबंध़
बहत हवा ना दे सकी बारमबार सुगन्ध.
दोस्ती अजमावे के बात ना, निभावे के बात हऽ, बुझलऽ ईयार ?

Show All Bhojpuri SMS